26/10/2013

मिकी वायरस : वीकेंड पर मनोरंजन के लिए एक मात्र फ़िल्म

असली प्रमोशनल तस्वीर ये होनी चाहिए,
मगर इसका इस्तेमाल प्रचार के लिए
बहूत कम हुआ.
हाल के कुछ वर्षो में बॉलीवुड ने दिल्ली को खूब बेचा है और वो सफल भी रहे हैं , मिकी वायरस में भी आप दिल्ली हीं देखेते हैं , बस इलाका थोरा अलग है वो है नेहरू प्लेस , क्योंकि सारे वायरस यही ठीक होते हैं। बहरहाल फ़िल्म मिकी वायरस यदि आपने अभी तक नहीं देखा है तो मै आपको तीन वज़ह बता सकता हूँ कि आप फ़िल्म क्यों देखे
1. मनीष पॉल का 70mm पर बेहतरीन डेब्यू.
2. हल्की- फुल्की कॉमेडी के साथ हैकर का कमाल और
3. इस वीकेंड पर मनोरंजन के लिए एक मात्र फ़िल्म।
 
यदि आपकी चाहत इससे ज्यादा है तो ये फ़िल्म आपके लिए नहीं बना है. फ़िल्म में गाने बेवज़ह ठूसे हुए लगते हैं ऐसा लगता है मानो आपके सहयात्री ज़बरदस्ती आपको गाने सुना रहे हैं जिसमे आपकी कोई दिलचस्पी नहीं है और आप सिर्फ पड़ेसान हो रहे है..मनीष पॉल समेत फिल्म के सभी कलाकार ने डायरेक्टर सौरव का सहयोग बखूबी किया है सिवाय एली के। 

फ़िल्म के पोस्टर और प्रोमो को जिस अंदाज़ में लोगो के सामने पड़ोसा गया था फ़िल्म बिलकुल उसके उलट है, श्याद ये एक बड़ी वज़ह हो सकती  जिससे इस फ़िल्म को ज्यादा नुकसान हो।  हाँ इतना जरूर है कि इस फ़िल्म को आप लिक से हटकर जरूर कह सकते हैं .
 
Happy weekend To all.  
एक टिप्पणी भेजें