09/08/2013

रिलाइंस बाबू का इदी मेरे लिए....

आज सुबहसुबह रिलाइंस वालों ने मुझे इदी दिया है ...आप भी देखिये ये इदी क्या है..
दरअसल सन १९५० में आई फिल्म आरज़ू का एक गाना है – ‘’जाना ना दिल से दूर’’ जिसे स्वर कोकिला लाता मंगेशकर जी ने गया है और अनिल विश्वास ने संगीत दिया  ..कर्णप्रिय है.. सो अम्बानी मोबाइल ने मुझे ये गाना कालर-ट्यून( ऐसी सेवा जिसमे भुगतान आप करते हैं और सेवा कोई और लेता है ) के रूप में इदी दिया है ....आप सोच रहे होंगे ये मुफ्त का होगा तो मै आपको बताना चाहूँगा की उन्होंने इसके एवज में मुझेसे बकायदा 45rs जबरन वसूल किया है...और करीबन २० फोन और ईमेल कर चूका हूं रिलाइंस ग्राहक सेवा केंद्र में ताकि आने वाले सुनामी से खुद को बचा लिया जाय पर नहीं बच पाया और हुआ ये की ..सुबह से जितने भी फोन आये है पहला प्रश्न यही रहा है , ये कैसे , ऐसा क्यों , अबे ये क्या है ,इतना पुराना , हद तो तब हो गयी जब एक मित्र ने कहा कोई नहीं यार सब ठीक हो जायेगा.... घंटा ठीक होगा , अब तो बस एक हीं रास्ता बचा है की मै अपने मोबाइल का धर्म परिवर्तन करवा दूं ...एक चीज़ और आजकल एक दुसरे के व्यक्तित्व को लोग उनके facebook staus और Mobile caller Tune से परखते हैं ..दरअसल ये जायज़ भी क्योंकि कर्ता स्वयं हीं इस काम को करता है सो निश्चित ही वो इसका उत्तरदायी है , कहीं ना कहीं उसके विचार ,सोच ,संस्कार समाहित होता है जिसके बलबूते वो ये सारी काल्पनिक भाव-भंगिमा को अंजाम देता है... पर कभी- कभी ऐसा भी होता है जो मेरे साथ हुआ है जहा कर्ता विवश होता है और घंटा नहीं कुछ कर पाता ......
खैर आप सभी को मेरे तरफ से ईद और तीज की ढेर सारी शुभकामनायें साथ में रिलाइंस समस्त परिवार को भी ...
अब जहाँ इतना हो चूका है तो ये गाना भी सुन लिया जाय
Youtube लिंक दे रहा हूं आप भी गाना सुनिए.....
एक टिप्पणी भेजें