25/11/2012

''यक्ष'' और ''युधिष्ठिर'' होते तो...


आज यदि ''यक्ष'' और युधिष्ठिर होते तो , सत्य क्या है के उत्तर में दो पंक्ति और जुट जाता    इस प्रकार -
यक्ष- सत्य क्या है ?
युधिष्ठिर- १. मृत्यु  २. भारतीय राजनीती में नेहरु परिवार और ३. भारतीय क्रिकेट में सचिन .
यक्ष- हे धर्म-राज विशेष जानकारी के लिए धन्यवाद् मै अपडेट नही था क्षमा चाहता हूँ , मै अपने प्रश्न-पुश्तिका में नोट कर लेता हूँ ,  अब आप जल मनमर्जी ले जा सकते है ।

सोंच बड़ी कमाल की चीज़ है , एक रेडियो उद्घोषक के अनुसार सोच कभी भी आ सकती है , सो मुझे अभी आया तो सोचता हु की थोरा और सोचु , तो ख्याल आया की कंही ज्यादती ना हो जाए,पर इतना जरुर कहना चाहूँगा कि...

''दिल तक पहुचने में वर्षों लग जाते है पर निकलना /निकालना चंद लम्हों का खेल है । कुछ निजी लगाव के चलते लोग अरबों की आबादी दाउ पे लगा लेते हैं ...
एक टिप्पणी भेजें