11/11/2008

जुर्माने में राखी या तोहफे में गुलाब ...

बात जब जुर्माने से नही बनी तो उतर आए गांधीगिरी पर। दरअसल उड़ीसा ट्रैफिक पुलिस ने इन दिनों बिना हेलमेट बाइक चलाने वाले को आर्थिक जुर्माने के बदले लड़कियों से राखी बंधवाने का कम शुरू किया हैं। वहीं दूसरी तरफ़ हेलमेट पहने बाइक सवारों को तोहफा स्वरुप गुलाब का फ़ुल भेंट किया जा रहा हैं। "हेलमेट पहनो" जागरूकता अभियान कि खास बात यह है की इसमे महिला चालकों के साथ भी कोई भेद -भाव नही बरता गया हैं। फर्क सिर्फ़ इतना है की उन्हें फ़ुल देने वाले और राखी बांधने वाले लड़के होते है।

उड़ीसा ट्रैफिक पुलिस के अनुसार चलान काटे जाने के बाबजूद लोग कानून का पालन नही करते और बिना हेलमेट बाइक चलाते हैं ,जिससे उड़ीसा में सड़क हादसों का मामला काफी बढ़ गयी हैं। यहाँ प्रतिदिन तक़रीबन 8 से 10 लोग सड़क हादसों में मारे जाते हैं। फिलहाल गांधीगिरी का परिणाम अच्छा मिल रहा है अब फ़ैसला बाइक सवार के हाथों में है की वो राखी पहनना पसंद करते है या गुलाब लेना। यदि उड़ीसा ट्रैफिक पुलिस की यह योजना कारगर साबित होती है, तो बेशक देश के अन्य राज्य भी इसे अमल में लायेगें।

एक टिप्पणी भेजें